Author: Raju Kumar

Loading...

एक ऐसे नवाब की कहानी जो नवाब नहीं होते तो सबके लिए बढ़िया था। ये हाथियों को जूते पहनाते हैं, कबूतरो  पर आक्रमण करवाते हैं और सियारों को…वो खुद पढ़िए! “कहानी बिहार के एक छोटी सी रियासत की है। माना जाता है कि ये अंग्रेजों के जमाने से भी पुरानी बात है। उन दिनों वहां…

Loading...

शहरी लोगों को नहीं पता होता है कि गांव क्या होता है, खेत क्या होते हैं, पोखर क्या होता है। हालांकि उनको कुछ बेहतर पता होती हैं। जैसे- पछतावा, ग्लानि और शर्मिंदगी। गांव के लोग इन चीजों के बारे में कुछ नहीं जानते… बरसात का मौसम चरम पर था। तालाब, पोखर वगैरह सारे भरे हुए…

Loading...

सर्दियों में नहाना किसको पसन्द होता है? किसी को नहीं। सब का मन करता है रजाई में घुसे रहने का। लेकिन जिनके पास रजाई नहीं है वो  क्या करेंगे? जैसे कि मछलियाँ और… “अरे तू नहाया नहीं अभी तक?” “नहीं…सर्दी लग रही है।” “कम्बल में बैठा रहेगा तो सर्दी तो लगेगी ही। बाहर निकल देख…

Loading...

“आप आसमान को गरीबों तक नहीं पहुंचा सकते, नहीं तो गरीब तो नीचे रह ही जायेगा; …आसमान भी नीचे आ के गरीब हो जायेगा।”

Loading...

“मैं आखिरी बार पीछे मुड़ कर देखने वालों मे से नहीं हूं। मैं आखिर तक पीछे देखूँगा, क्या पता वो आखिरी बार मुड़ कर देख ले!”

Loading...

आप सब को याद होगा आपका पहला स्कूल, पहली क्लास, पहली टीचर, पहला प्यार और भी बहुत सारी पहली चीजें। क्या आपको याद है आप ने सबसे पहले बुरा बनने की शुरुआत कब की? किचेन से मिल्क पाउडर चुराने और गली क्रिकेट में बेईमानी से किसी को आउट करवाने को छोड़ के; क्या आपको याद…