Author: Shashikant Kumar

Loading...

आज से विद्यालय में गर्मियों की छुट्टियाँ शुरू हो गई, बच्चों को न जाने कितने दिन से इसका इंतज़ार था। सभी बच्चों की ख़ुशी का ठिकाना नही था, अब दो महीने तक उनकी मौज जो हो गई थी। इन दो महीने में कोई उन्हें विद्यालय जाने को नही कहने वाला था , अलग-अलग जगह घूमने…

Loading...

  आज भी यश एक साधारण सा बच्चा, उम्र तकरीबन बारह वर्ष की होगी, रिक्शे से विद्यालय जा रहा है। मन ही मन बहुत खुश है, यह ख़ुशी उसके चेहरे पर साफ़ झलक रही है। यश अपने बैग को बार-बार खोलता है, उसके अंदर कुछ झाँकता है और फिर हाथ से किसी वस्तु को निहारता…

Loading...

जरुरी नही है कि जीत ही महत्वपूर्ण है, जिंदगी उससे भी ज्यादा महत्वपूर्ण है और इसीलिए कार्य अपनी समझदारी से ही करना चाहिए।   गाँव में इन चारो दोस्तों को यारी को लगभग सभी लोग जानते थे। राम, जतिन , राजू और आर्यन बहुत अच्छे दोस्त थे, जैसे कि सभी बच्चों के दोस्त होते है,…

Loading...

एक राजा ने अपनी बुद्धि का प्रयोग कर सभी को उनके गुणों के अनुरूप पद प्रदान किया।   आज राजा इंद्र युद्ध में विजयी होकर अपने राज्य की तरफ लौट रहे थे, उनके चेहरे पर ख़ुशी तो झलक ही रही थी पर उसके साथ-साथ उनके चेहरे पर उनकी चिंता भी झलक रही थी। कोई भी…

Loading...

मनुष्य कई बार हारकर भी जीत जाता है और यही बयां कर रही है यह कहानी।     राज और राजन एक ही कक्षा में पढ़ने वाले दो छात्र थे, वह दोनों ग्यारहवी कक्षा के छात्र थे। दोनों में आपस में दोस्त थे। राजू साधारण सा छात्र था, वह पढाई में भी सामान्य था और…

Loading...

दो बच्चे कैसे बढ़िया दोस्त बन, यह दास्तां बयां करती है यह कहानी|     मोनू आज भी सुबह सुबह अपने घर से विद्यालय जाने के निकला और अपनी माँ के साथ विद्यालय को जाने लगा। मोनू रोज रोड पर जितनी भी दुकाने होती उन सबको देखते और निहारते हुए विद्यालय को जाता था। ऐसे…

Loading...

यह कहानी एक लकड़हारे और एक सेठ की दोस्ती की बयां करता है।                            पुराने समय की बात है, एक गाँव में एक लकड़हारा रहता था। इस लकड़हारे का नाम भोलू था। भोलू की उम्र तकरीबन तीस वर्ष की होगी। उसका साधारण सा परिवार था। उसके परिवार में उसकी एक बूढ़ी माँ, उसकी पत्नी…

Loading...

अमन एक मायूस व चुपचाप रहने वाला बच्चा था। उसका स्तर पढाई में भी काफी बुरा था। उसका वयवहार बिल्कुल अलग था। क्या उसके अंदर कोई बदलाव आया,क्या वो ठीक हो पाया?   अमन आठवीं कक्षा का छात्र था। उसकी उम्र तकरीबन चौदह वर्ष थी। देखने में अमन सभी की तरह बिल्कुल साधारण सा था…

Loading...

एक मोहल्ले में पाँच दोस्त रहते है। उस मोहल्ले में कुछ दिनों से चोरी की बहुत घटना सामने आ रही थी। चोर को पकड़वाने के लिए एक दोस्त जासूस की तरह काम करता है। किस तरह से चोर को पकड़ा जाता पढ़िए इसमें…   रमेश, मनीष, राज, मोनू और रवि एक ही मोहल्ले में रहते…

Loading...

यह कहानी पुर्णतः काल्पनिक है। इस कहानी में पशु के प्रेम को दर्शाया गया है। इस कहानी में मनीष नाम का बच्चा कुत्तो के बच्चे से बेहद प्रेम करता है। कुत्ते भी मनीष को चाहते थे। एक दिन कुत्तो ने अपनी जान पर खेलकर मनीष की जान बचाई। इसके कारण एक कुत्ता विकलांग हो गया।…