Category Archives: कहानियां

poker oyunu – 2020’de Android İçin 7 En İyi Poker Oyunları

Gerçek Para Poker Oyunu Content Kiralık Konak Romanında Batılılaşma Ve Dil Sorunları Para Yatırmayan Casinolar Dünya Poker Serisi Htc One Screen Yanıt Vermiyor Para için bin kart nasıl oynanır, en iyi casino slot makineleri eğlence. Macao bölgesi, heyecan dolu bir atmosferde kazancınızı katlayarak dolu dolu zaman geçirebilirsiniz. Canlı bahis artık bir ihtiyaç haline geldi, sayısını…

sanal rulet oyna – Canlı Rulet Oyunu Oynanan Siteler

Canlı Rulet Oyunu Oynanan Siteler Content Mywavia Studios Tarafından Sunulan Diğer Öğeler Rulet Oyununun Özet Tarihi En İyi̇ Rulet Si̇teleri̇ Bununla birlikte bilgisayarın dışında, mobil cihazlarla da bahis siteleri üzerinden eğlencesine rulet oynamak mümkün. Bunun en iyi tarafı nerede olursanız olun, internet bağlantınız olan her yerden free, amerikan, fransız, zevkine, sahte yada deneme rulet oynamanız…

महाभारत की चित्रांगदा : चित्रांगदा -अर्जुन की प्रेम कथा

मणिपुर में उत्सव का माहौल था,    विदेशी  आक्रमण से मणिपुर की रक्षा कर युद्ध जीत कर उनका सेनापति राजकुमार चित्रांगद वापस आ रहा था । विश्व का महान धनुर्धर अर्जुन मित्रता का प्रस्ताव लेकर मणिपुर आया था। उसने मणिपुर के लोगो में राजकुमार के प्रति जो प्रेम तथा सम्मान था , ऐसा उसने कभी  और कहीं…

मेरी पहली बेईमानी

आप सब को याद होगा आपका पहला स्कूल, पहली क्लास, पहली टीचर, पहला प्यार और भी बहुत सारी पहली चीजें। क्या आपको याद है आप ने सबसे पहले बुरा बनने की शुरुआत कब की? किचेन से मिल्क पाउडर चुराने और गली क्रिकेट में बेईमानी से किसी को आउट करवाने को छोड़ के; क्या आपको याद…

अमीरी-डेंट

कहा जाता है जब इंसान के पास पैसा आता है तो साथ में कईं जिम्मेदारियां भी आती है, जिम्मेदारी जरुरतमंदो का ख्याल रखने की, लेकिन पिछले कुछ दिनों से जिस लापरवाही से रईस बाप की औलादें नशे में धुत होकर फुटपाथ पर सोने वाले उन गरीब इंसानों को रौंद रहे हैं, उसी डर को बयां करती…

बचपन की यादें

बचपन की यादों को एक बार फिर जीवंत करने, एक बार फिर खुद को भूल झुम आते हैं बचपन के उस अल्हड़ सावन में, झूमती मस्ती में और बेपरवाह भागते हैं उन रंगीन तितलियों के पीछे|   बचपन- वो दौड़ जब माँ की कही हर बार पर बच्चा आंख मूंद कर विश्वास कर लेता है…

‘बिन्दु और बिंदी- अनोखा इश्क़’

तुम भी जब अपने कोरे चेहरे पर बस ‘बिंदी’ लगाती हो, तो तुम्हारे चेहरे कोपढ़ने में जो आनन्द की अनुभूति होती है भला वो भी शब्दों में कहाँ बयान  हो पाता है|   यूँ तो ईश्वर की हर रचना को शब्दों के सहारे जोड़कर या तोड़कर ‘नज़्म’ कर देता हूँ ! पर जब बात तुम्हारी आती है तो…

अन्धविश्वास

इक्कीसवीं शताब्दी के ढोंग और माँ के विश्वास के बीच की कश्मकश|     घर की दहलीज के बाहर अभी पहला कदम रखा ही था कि, किसी के छींकने की आवाज आयी! पीछे से माँ ने टोका, ‘दो मिनट रूक कर निकलना!’ दो मिनट बाद घर से बाहर निकला, रास्ते में अंतर्मन ने सवाल किया- यार-दोस्तों के…

तानो और परांठो के बीच पनपता एक ख्वाब

माँ के हांथों का पराँठे और पिताजी के तानो के बीच उलझी मोहब्बत, सिगरेट का आखिरी कश और नुक्कड़ की पान की दूकान, ख़्वाबों से परे एक अनोखी कहानी!   बस अब तो मैंने फैसला कर लिया था कुछ भी हो जाये अब तो घर छोड़ना ही है और भला छोरु भी क्यों न पानी अब…

बच्चा – ‘लाडला’ या ‘भिखारी’

बच्चा-संसार की सारी विषमताओं और तुलनाओं से पड़े और फिर एक माँ स्वर्ग की कल्पनाओं से पड़े, मगर इन सब के बावजूद कलयुग की वास्तवित और एक बच्चे की दूसरे बच्चे के साथ तुलना करती माँ की सभी अलौकिक विशेषताओं से पड़े एक दूसरी माँ !   भूख से व्याकुल वो बच्चा बैठा था एक कचड़े…